Yohimbine Supplement for Fat Loss and Erectile Dysfunction

In this article, we will discuss the Yohimbine supplement as what is yohimbine, its effects on fat loss and erectile dysfunction, dosage, side effects, and everything else that you must know before using it. Yohimbine is considered a toxic supplement and has many side effects. Yohimbine is banned in many countries. So, I request you to read the article very carefully before using it.

Continue reading “Yohimbine Supplement for Fat Loss and Erectile Dysfunction”

Yohimbine Supplement for Fat Loss and Erectile Dysfunction in Hindi

इस लेख में योहिंबाइन (Yohimbine) सप्लीमेंट के विषय में चर्चा करेंगे। योहिंबाइन क्या है, यह वजन कम करने में किस प्रकार सहायक है, यह इरेक्टाइल डिस्फंक्शन पर कैसे काम करता है, इसके दुष्प्रभाव क्या है, यह किसको प्रयोग नहीं करना चाहिए, साथ ही कुछ आवश्यक जानकारी जो आपको सप्लीमेंट प्रयोग करने से पहले पता होनी चाहिए आदि विषयों पर चर्चा करेंगे। योहिंबाइन को एक विषैला सप्लीमेंट माना जाता है जिसके कई दुष्प्रभाव भी देखे गए हैं। बहुत सारे देशों में यह सप्लीमेंट प्रतिबंधित भी किया जा चुका है। इसलिए आपसे अनुरोध है कि कृपया इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

Continue reading “Yohimbine Supplement for Fat Loss and Erectile Dysfunction in Hindi”

Shilajit – A Complete Guide

We will discuss the uses, benefits, dosage, and side effects of Shilajit based on clinical researches and ancient Ayurveda texts. Our whole motive of this discussion is to know, either Shilajit is effective or it is just a hoax.

Shilajit is a wonder medicine of Ayurveda that has been used for 50+ diseases for 3000+ years. Charaka Samhita and Sushruta Samhita mention that Shilajit can cure every disease and can increase longevity from 100 to 1000 years. Shilajit is considered a Rasayana (rejuvenating) in Ayurveda. It is a mineral that exudes from the rocks of the Himalayas due to the extreme heat of the sun and has the divine healing power of these great mountains.

In ancient Ayurveda, Shilajit is primarily used for diabetes and urinary diseases but also for many other problems. Medical science has conducted numerous clinical researches on humans and animals to understand the properties and effects of Shilajit. There are numerous Shilajit supplements available in the market that make bold claims. We will discuss the uses, benefits, dosage, and side effects of Shilajit based on clinical researches and ancient Ayurveda texts. Our whole motive of this discussion is to know, either Shilajit is effective or it is just a hoax.

Continue reading “Shilajit – A Complete Guide”

Betaine Anhydrous for Strength, Power and Fat Loss

Betaine anhydrous is also called betaine or trimethylglycine. It is an ingredient specially used in sports supplements. You can read its name on popular pre-workout supplements labels as Evlution Nutrition, Kaged Muscle, MusclePharm, Dymatize, and Cellucor. Betaine is also available as a standalone supplement as Nutricost, GNC, and Transparent. Companies claim that betaine can improve strength, power, and body composition. I have analyzed all the available studies to find the truth about this ingredient. Read this article to understand what is betaine anhydrous, its uses, effects, and side effects.

Continue reading “Betaine Anhydrous for Strength, Power and Fat Loss”

D-Aspartic Acid Supplement for Testosterone, Sperm Quality and Bodybuilding in Hindi

इस लेख का विषय है डी-एस्पार्टिक एसिड (D-Aspartic Acid)। यह एक सप्लीमेंट है जो टेस्टोस्टेरोन में वृद्धि करने के लिए, फर्टिलिटी अर्थात शुक्राणुओं की गुणवत्ता में वृद्धि करने के लिए, मांसपेशियों की सुडौलता और शारीरिक शक्ति में वृद्धि करने के लिए प्रयोग किया जाता है। इस लेख में हम देखेंगे कि क्या यह सप्लीमेंट असरदार है या नहीं। साथ ही हम देखेंगे कि यह सप्लीमेंट किसे प्रयोग करना चाहिए, कब कैसे और कितनी मात्रा में प्रयोग करना चाहिए और इसके दुष्प्रभाव क्या हो सकते हैं।

Continue reading “D-Aspartic Acid Supplement for Testosterone, Sperm Quality and Bodybuilding in Hindi”

Fenugreek Seed Extract for Testosterone, Endurance and Muscle Building in Hindi

इस लेख में हम बात करेंगे फेनुग्रीक सीड एक्सट्रैक्ट (Fenugreek Seed Extract) के बारे में। फेनुग्रीक को हिंदी में मेथी कहा जाता है। मेथी के बीज और मेथी के पत्ते आपने देखे होंगे। यह लगभग सभी घरों में प्रयोग किए जाते हैं। फेनुग्रीक सीड्स यानी मेथी के बीज से बने सप्लीमेंट्स मार्केट में उपलब्ध हैं। इन सप्लीमेंट्स का प्रयोग खिलाड़ी अपनी टेस्टोस्टेरोन (Testosterone) की वृद्धि करने के लिए कार्य प्रदर्शन (Performance) की वृद्धि करने के लिए और मांसपेशियों को सुडौल बनाने के लिए करते हैं। इस लेख में हम देखेंगे कि क्या फेनुग्रीक सप्लीमेंट्स सच में असरदार है या नहीं।

Continue reading “Fenugreek Seed Extract for Testosterone, Endurance and Muscle Building in Hindi”

DHEA Supplement in Hindi

DHEA एक सप्लीमेंट है जो बॉडीबिल्डिंग में प्रयोग किया जाता है। जो कंपनियां DHEA सप्लीमेंट को तैयार करती हैं और बेचती हैं, उनका कहना है कि इस सप्लीमेंट से टेस्टोस्टेरोन की मात्रा बढ़ती है, शारीरिक शक्ति बढ़ती है और साथ ही शरीर में चर्बी की मात्रा कम हो कर मांसपेशियों का आकर बढ़ता है। इस लेख में हम चर्चा करेंगे की DHEA सप्लीमेंट क्या है, क्या यह सच में असरदार है, इसको कैसे प्रयोग किया जाता है और इसके दुष्प्रभाव क्या हैं।

Continue reading “DHEA Supplement in Hindi”

Clinical Study Designs in Hindi

इस लेख में हम बात करेंगे न्यूट्रिशन विज्ञान में प्रयोग किए जाने वाले Scientific Methods और उनके Clinical Study Designs के बारे में। न्यूट्रिशन के वैज्ञानिक न्यूट्रिशन के बारे में जो भी जानते हैं वह उनको कैसे पता चलता है? उन्हें कैसे पता चलता है कि कैल्शियम क्या काम करता है? उन्हें कैसे पता चलता है कि कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होने से दिल की बीमारियाँ हो सकती हैं? उन्हें कैसे पता चलता है कि कौन से न्यूट्रिएंट्स का हमारे शरीर से क्या संबंध है? यह सब जानने के लिए न्यूट्रीशन के वैज्ञानिक जो तरीके प्रयोग करते हैं, वह सभी तरीके हम इस आर्टिकल में समझेंगे।

Continue reading “Clinical Study Designs in Hindi”

Rapid Weight Loss Methods Used in Weight Sensitive Sports by Professional Athletes

In this article, we will discuss all rapid weight loss methods used in weight-sensitive sports by professional athletes. We will understand physiology, practical application, benefits, drawbacks, side effects, post-weigh-in recovery methods, and pre-competition dietary requirements.

In this article, we will discuss all rapid weight loss methods used in weight-sensitive sports by professional athletes. We will understand physiology, practical application, benefits, drawbacks, side effects, post-weigh-in recovery methods, and pre-competition dietary requirements.

Continue reading “Rapid Weight Loss Methods Used in Weight Sensitive Sports by Professional Athletes”

Taurine Supplements – A Complete Guide

Taurine is an amino acid, commonly used in energy drinks, pre-workouts, and amino acid supplements to improve your athletic performance, energy level, and mental focus. In this article, we will analyze clinical trials and case studies on taurine to find out its effects on endurance, body composition, cardiovascular health, liver health, and chemotherapy side effect.

Taurine (2-aminoethanesulfonic acid) is a conditionally essential sulfur-containing amino acid1. Conditionally essential means the body can make it with the help of methionine, cysteine, and vitamin B6, but not in sufficient amounts, so it is necessary to take it from the diet. Sulfur-containing means, taurine contains sulfur in its molecular structure. You can also call it an organic compound because it has a carbon element in it.

Continue reading “Taurine Supplements – A Complete Guide”