DHEA Supplement in Hindi

DHEA एक सप्लीमेंट है जो बॉडीबिल्डिंग में प्रयोग किया जाता है। जो कंपनियां DHEA सप्लीमेंट को तैयार करती हैं और बेचती हैं, उनका कहना है कि इस सप्लीमेंट से टेस्टोस्टेरोन की मात्रा बढ़ती है, शारीरिक शक्ति बढ़ती है और साथ ही शरीर में चर्बी की मात्रा कम हो कर मांसपेशियों का आकर बढ़ता है। इस लेख में हम चर्चा करेंगे की DHEA सप्लीमेंट क्या है, क्या यह सच में असरदार है, इसको कैसे प्रयोग किया जाता है और इसके दुष्प्रभाव क्या हैं।

DHEA क्या है?

DHEA का पूरा नाम है Dehydroepiandrosterone (डी-हाइड्रो-एपी-एंड्रो-स्टेरॉन)। यह एक स्टेरॉयड हॉरमोन है जो हमारे शरीर में प्राकृतिक रूप से बनता है। हमारे शरीर में एड्रिनल ग्लैंड में इस हार्मोन का निर्माण होता है।

The kidney (including the surrounding fibrous tissue and fat layer, the renal pelvis, and the ureter) and the adrenal gland, as well as a close-up view of the renal pelvis.
This image was released by the National Cancer Institute, an agency part of the National Institutes of Health

DHEA वास्तविक रूप में क्या कार्य करता है, यह अभी तक पूरी तरह ज्ञात नहीं है, लेकिन इस हारमोन का कुछ भाग एस्ट्रोजन और टेस्टोस्टरॉन में परिवर्तित होता है। लेकिन यह परिवर्तन प्रत्यक्ष रूप से न होकर परोक्ष रूप से होता है। इसका अर्थ है DHEA सीधे एस्ट्रोजन और टेस्टोस्टेरोन में नहीं बदलता। जैसे जैसे हमारी आयु बढ़ती है वैसे वैसे हमारे शरीर में DHEA की मात्रा कम होती जाती है। ऐसे व्यक्ति जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है उनके शरीर में DHEA की मात्रा अत्यधिक कम होती है।

यह माना जाता है की DHEA की मात्रा कम होने से टेस्टोस्टेरोन की मात्रा भी कम हो जाती है। और यदि DHEA  की मात्रा को बढ़ा दिया जाए तो टेस्टोस्टेरोन की मात्रा भी बढ़ जाएगी। टेस्टोस्टेरोन का संबंध सीधे-सीधे शारीरिक शक्ति और मांसपेशियों के सुडोल आकार से है,  इसलिए कहा जाता है कि DHEA के सेवन से जब टेस्टोस्टेरोन की मात्रा बढ़ती है तो शरीर शक्तिशाली और मांसपेशियाँ सुडोल हो जाती है। इसलिए DHEA सप्लीमेंट मार्किट में बेचे जा रहे हैं और लोग इन सप्लीमेंट्स का प्रयोग कर रहे हैं। लेकिन यह सिर्फ माना जाता है। सच्चाई क्या है, यह हम इस लेख में चर्चा करेंगे।

DHEA का टेस्टोस्टेरोन, शारीरिक शक्ति और मांसपेशियों की सूडोलता पर प्रभाव

अब हम यह देखते हैं कि क्या DHEA सप्लीमेंट सच में टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाता है या नहीं। जो बायो-केमिस्ट्री पढ़ते हैं उन्हें पता होगा कि DHEA सीधे टेस्टोस्टेरोन में परिवर्तित नहीं होता। DHEA पहले Androstenedione या Androsteneiol में परिवर्तित होता है और फिर उसके बाद टेस्टोस्टेरोन में परिवर्तित होता है। इस वजह से DHEA सप्लीमेंट लेने से टेस्टोस्टेरोन की मात्रा नहीं बढ़ सकती।

Clinical Study 1

Dehydroepiandrosterone reduces serum low density lipoprotein levels and body fat but does not alter insulin sensitivity in normal men.

1988 में 10 लोगों पर एक क्लिनिकल स्टडी की गई थी जिसमें 5-5 के दो समूह बनाए गए थे। एक समूह को खाली कैप्सूल दिए गए और दूसरे समूह को 400 मिलीग्राम DHEA सप्लीमेंट हर रोज दिन में 4 बार दिया गया। यह स्टडी 4 हफ्ते तक चली। 4 हफ्ते की स्टडी के बाद यह पता चला कि DHEA सप्लीमेंट लेने से टेस्टोस्टेरोन पर कोई प्रभाव नहीं हुआ। टेस्टोस्टेरोन थोड़ा सा भी नहीं बड़ा। इसका अर्थ यह हुआ कि 1600 मिलीग्राम DHEA सप्लीमेंट 28 दिन तक रोज लेने के बाद भी टेस्टोस्टेरोन नहीं बढ़ा।

Clinical Study 2

2005 में की गई एक स्टडी के हिसाब से DHEA सप्लीमेंट लेने से रजोनिवृत्त महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन की मात्रा बढ़ गई। रजोनिवृत्ति एक ऐसी स्थिति होती है जब महिलाओं में एस्ट्रोजन का निर्माण या एस्ट्रोजन की मात्रा बहुत ही कम हो जाती है। अंडों का बनना पूरी तरह से रुक जाता है। महिलाओं में ऐसा लगभग 50 वर्ष की आयु के बाद होता है। रजोनिवृत्ति के बाद उन्हें मासिक धर्म नहीं आते और एस्ट्रोजन की मात्रा कम होने के कारण शरीर में कमज़ोरी रहती है। यह सोच कर कि DHEA सप्लीमेंट लेने से उनका एस्ट्रोजन लेवल बढ़ जाएगा 50 महिलाओं को DHEA सप्लीमेंट दिया गया। लेकिन उनका एस्ट्रोजन नहीं बढ़ा और टेस्टोस्टेरोन की मात्रा बढ़ गई।

Clinical Study 3

एक स्टडी ऐसी भी है जहां देखा गया कि DHEA सप्लीमेंट लेने से पुरुषों में एस्ट्रोजन की मात्रा बढ़ गई।

Clinical Study 4

Effect of oral DHEA on serum testosterone and adaptations to resistance training in young men.

1999 में 19 जवान लड़कों पर एक स्टडी की गई थी। सभी लड़के 23 वर्ष की आयु के आसपास थे। 19 लड़कों को 10 और 9 के दो समूहों में बांट दिया गया। 10 लड़कों के समूह को 150 मिलीग्राम DHEA सप्लीमेंट हर रोज दिया गया और 9 लड़कों के समूह को खाली कैप्सूल दिए गए। सप्लीमेंट देने के साथ-साथ उनसे एक्सरसाइज भी करवाई गई। यह स्टडी 8 हफ्ते तक की गई। 8 हफ्ते के बाद देखा गया कि DHEA लेने से टेस्टोस्टेरोन की मात्रा पर कोई असर नहीं हुआ। यदि शक्ति और मांसपेशियों की सुडोलता कि बात करें तो सप्लीमेंट लेने वाले लड़कों में और सप्लीमेंट ना लेने वाले लड़कों में कोई अंतर नहीं था। सप्लीमेंट लेने वाले लड़कों में शक्ति और मांसपेशियों की सुडौलता में जितनी वृद्धि हुई, उतनी ही वृद्धि सप्लीमेंट ना लेने वालों में भी हुई। इस स्टडी के आधार पर हम कह सकते हैं कि DHEA सप्लीमेंट का टेस्टोस्टेरोन, शारीरिक शक्ति और मांसपेशियों की सुडौलता पर कोई प्रभाव नहीं है।

Clinical Study 5

Effects of dehydroepiandrosterone vs androstenedione supplementation in men.

ऐसी ही एक और क्लिनिकल स्टडी 40 कुशल पुरुषों पर की गई। इन सभी पुरुषों की आयु 48 वर्ष के आसपास थी और सभी को 1 वर्ष से अधिक का व्यायाम का अनुभव था। 40 पुरुषों को तीन समूहों में बांट दिया गया। एक समूह को 100 मिलीग्राम DHEA हर रोज दिया गया, दूसरे समूह को 100 मिलीग्राम Androstenedione हर रोज दिया गया और तीसरे समूह को खाली कैप्सूल दिए गए। यह स्टडी 12 हफ्ते तक चली। 12 हफ्ते के बाद यह पता चला कि DHEA से या Androstenedione से शारीरिक शक्ति पर, टेस्टोस्टेरोन की मात्रा पर या मांसपेशियों की सुडौलता पर कोई भी प्रभाव नहीं हुआ।

Clinical Study 6

DHEA enhances effects of weight training on muscle mass and strength in elderly women and men.

एक स्टडी है जो 64 महिलाओं और पुरुषों पर की गई थी। सभी महिलाओं और पुरुषों की आयु 65 से 78 वर्ष के बीच थी। उन सभी को 10 महीने तक हर रोज 50 मिलीग्राम DHEA सप्लीमेंट दिया गया। शुरू के 6 महीने में कोई भी एक्सरसाइज प्रोग्राम नहीं था, सिर्फ सप्लीमेंट ही दिया गया। अंतिम 4 महीनों में सप्लीमेंट के साथ-साथ वेटलिफ्टिंग एक्सरसाइज प्रोग्राम भी जोड़ा गया। जो व्यक्ति DHEA सप्लीमेंट ले रहे थे उनकी परफॉर्मेंस में काफी वृद्धि हुई। यदि टेस्टोस्टेरोन की बात करें तो महिलाओं में 300% तक की वृद्धि हुई लेकिन पुरुषों के टेस्टोस्टेरोन में थोड़ी सी भी वृद्धि नहीं हुई। यदि एस्ट्रोजन लेवल की बात करें तो पुरुषों में 30% और महिलाओं में 70% तक एस्ट्रोजन की मात्रा बढ़ी।

निष्कर्ष

अब बात करते हैं निष्कर्ष के बारे में। यदि आपकी आयु 60 वर्ष से कम है तो आपको DHEA सप्लीमेंट लेने से कोई फायदा नहीं होगा। DHEA लेने से आपके टेस्टोस्टेरोन की मात्रा, शारीरिक शक्ति और मांसपेशियों की सुडोलता में कोई भी लाभ नहीं होने वाला। यदि आप लंबे समय तक इस सप्लीमेंट का प्रयोग करते हैं तो आपको दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। मेरी आपको सलाह है कि आप डीएसीए सप्लीमेंट का प्रयोग ना करें।

यदि आपकी आयु 60 वर्ष से अधिक है और आप नियमित रूप से व्यायाम करते हैं तो आप DHEA सप्लीमेंट ले सकते हैं। DHEA सप्लीमेंट लंबे समय तक लेने के बाद और नियमित रूप से व्यायाम करने से आपका कार्य प्रदर्शन अच्छा हो जाएगा। यदि आप थोड़े समय के लिए DHEA सप्लीमेंट का प्रयोग करते हैं या साथ में व्यायाम नहीं करते, तो आपको इससे कोई लाभ नहीं होगा।

DHEA सप्लीमेंट की सेवन की मात्रा

अब बात करते हैं DHEA सप्लीमेंट की मात्रा के बारे में। क्लिनिकल ट्रायल्स के आधार पर जवान पुरुषों में DHEA सप्लीमेंट लेने से कोई फायदा नहीं हुआ इसलिए जवान पुरुषों के लिए सेवन की कोई भी मात्रा निर्धारित नहीं की गई है।

DHEA सप्लीमेंट का लाभ ऐसे व्यक्तियों में देखने को मिला है जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है और व्यायाम करते हैं। ऐसे व्यक्ति 50 मिलीग्राम से 100 मिलीग्राम DHEA सप्लीमेंट प्रतिदिन ले सकते हैं।

DHEA सप्लीमेंट के दुष्प्रभाव

अब बात करते हैं DHEA सप्लीमेंट के दुष्प्रभाव के बारे में। क्लिनिकल ट्रायल्स में DHEA सप्लीमेंट को 50 मिलीग्राम प्रतिदिन की मात्रा पर 2 वर्ष तक प्रयोग किया गया है। 2 वर्ष तक निरंतर प्रयोग करने के बाद भी कोई दुष्प्रभाव देखने को नहीं मिला है। इस आधार पर हम कह सकते हैं कि कम मात्रा में DHEA का कोई दुष्प्रभाव नहीं है।

लेकिन यदि 100 मिलीग्राम से ज्यादा DHEA सप्लीमेंट लंबे समय तक प्रयोग किया जाए तो उसके बहुत ही गंभीर दुष्प्रभाव हो सकते हैं

सबसे साधारण दुष्प्रभाव है चेहरे पर मुंहासे हो जाना या पेट खराब हो जाना।

DHEA के सेवन से महिलाओं में मासिक धर्म का समय अनियमित हो सकता है, चेहरे और शरीर पर अनचाहे बालों में वृद्धि हो सकती है और उनकी आवाज़ भी पुरुषों के जैसी हो सकती है।

पुरुषों में स्तनों में दर्द हो सकता है या स्तनों का आकार आस्वाभाविक रूप से बढ़ सकता है।

यदि किसी व्यक्ति को मधुमेह, दिल, प्रोस्टेट, कैंसर या लीवर की कोई समस्या है तो उस व्यक्ति को DHEA सप्लीमेंट का प्रयोग नहीं करना चाहिए। गर्भावस्था में और स्तनपान के समय यदि कोई महिला DHEA सप्लीमेंट का प्रयोग करती है तो यह उस महिला और बच्चे के स्वास्थ्य के लिए गंभीर रूप से हानिकारक हो सकता है।

अभी आप समझ गए होंगे कि DHEA सप्लीमेंट का स्पोर्ट्स में कोई प्रयोग नहीं है। मैंने आपको जो भी क्लिनिकल ट्रायल्स के बारे में बताया है उनका लिंक आप इस लेख के अंत में देख सकते हैं। यदि आपको अभी भी कोई संशय है तो आप मुझे लिखिए, मैं आपको 100 से भी अधिक रिसर्च पेपर भेज सकता हूं।

बहुत सी वेबसाइट पर आपको देखने को मिलेगा कि DHEA सप्लीमेंट लेने से टेस्टोस्टेरोन की मात्रा बढ़ती है। लेकिन यह पूरी तरह से असत्य है। मेरी आपको सलाह है कि आप DHEA सप्लीमेंट का प्रयोग ना कीजिए। इससे आपको शारीरिक और आर्थिक हानि होगी।

धन्यवाद। 

References

  1. Nestler, J. E., Barlascini, C. O., Clore, J. N., & Blackard, W. G. (1988). Dehydroepiandrosterone reduces serum low density lipoprotein levels and body fat but does not alter insulin sensitivity in normal men. The Journal of clinical endocrinology and metabolism66(1), 57–61. https://doi.org/10.1210/jcem-66-1-57 or PubMed
  2. Dayal, M., Sammel, M. D., Zhao, J., Hummel, A. C., Vandenbourne, K., & Barnhart, K. T. (2005). Supplementation with DHEA: effect on muscle size, strength, quality of life, and lipids. Journal of women’s health (2002), 14(5), 391–400. https://doi.org/10.1089/jwh.2005.14.391 or PubMed
  3. Morales, A. J., Nolan, J. J., Nelson, J. C., & Yen, S. S. (1994). Effects of replacement dose of dehydroepiandrosterone in men and women of advancing age. The Journal of clinical endocrinology and metabolism, 78(6), 1360–1367. https://doi.org/10.1210/jcem.78.6.7515387 or PubMed
  4. Brown, G. A., Vukovich, M. D., Sharp, R. L., Reifenrath, T. A., Parsons, K. A., & King, D. S. (1999). Effect of oral DHEA on serum testosterone and adaptations to resistance training in young men. Journal of applied physiology (Bethesda, Md. : 1985), 87(6), 2274–2283. https://doi.org/10.1152/jappl.1999.87.6.2274 or PubMed
  5. Wallace, M. B., Lim, J., Cutler, A., & Bucci, L. (1999). Effects of dehydroepiandrosterone vs androstenedione supplementation in men. Medicine and science in sports and exercise, 31(12), 1788–1792. https://doi.org/10.1097/00005768-199912000-00014 or PubMed
  6. Villareal, D. T., & Holloszy, J. O. (2006). DHEA enhances effects of weight training on muscle mass and strength in elderly women and men. American journal of physiology. Endocrinology and metabolism, 291(5), E1003–E1008. https://doi.org/10.1152/ajpendo.00100.2006 or PubMed

Author: Vikas Dhavaria

A free spirit who loves to read books. Interested in philosophy and nutrition.

3 thoughts on “DHEA Supplement in Hindi”

Leave a Reply to Subrata Mukherjee Cancel reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.